Farmers Violence: ट्रैक्टर परेड में हिंसा के बाद बदला किसानों का रुख, रद्द हो सकता है किसानों का संसद मार्च

farmers

कृषि कानूनों (Agriculture Laws) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 1 फरवरी को संसद मार्च करने का ऐलान किया था, जिस दिन लोक सभा में आम बजट (Budget) पेश किया जाना है.

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) में हुई हिंसा के बाद किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं. इस बीच आंदोलन को लेकर किसानों का रुख बदला है और अब किसानों का संसद मार्च (Parliament March) दर्ज हो सकता है.

1 फरवरी को संसद मार्च करने वाले हैं किसान

बता दें कि कृषि कानूनों (Agriculture Laws) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 1 फरवरी को संसद मार्च करने का ऐलान किया था, जिस दिन लोक सभा में आम बजट (Budget) पेश किया जाना है. किसान संगठनों की बैठक में संसद मार्च को रद्द करने पर फैसला हो सकता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *