LEO (सिंह)

जनवरी- कार्य-क्षेत्र में कुछ नई योजनाएं बनेंगी लेकिन लाभ के स्थान में राहु होने से आर्थिक परेशानियों का सामना होगा। घरेलू उलझनों की वजह से तानल रह सकता है।
उपाय- मकर संक्रांति को गर्म वस्त्र और पंचांग दान करें।

फरवरी- कार्यों में धीरे-धीरे प्रगति होगी। सूर्य की दृष्टि होने से मान-सम्मान में वृद्धि व धन लाभ होगा। पति-पत्नी का आपसी मनमुटाव हो सकता है।
उपाय- श्री महाशिवरात्रि का विधि पूर्वक व्रत रखें।

मार्च- नए-नए दोस्त बनेंगे। निर्वाह योग्य आय के साधन बनते रहेंगे। स्वास्थ्य कुछ ढीला रहेगा, पेट व नेत्र संबंधी रोगों से बचाव करना पड़ सकता है।
उपाय- सूर्य-कवच का पाठ करें।

अप्रैल- सूर्य अष्टम स्थान पर होने से धन लाभ व बनते कामों में विघ्न पैदा हो सकते हैं।स्वास्थ्य में विकार और व्यर्थ के खर्च बढ़ेंगे। 13 अप्रैल 2020 के बाद आय के साधनों में वृद्धि होगी।
उपाय- पापप्रशनम स्तोत्र का पाठ करें।

मई- सूर्य भाग्य स्थान में होने से बिगड़े कामों में सुधार आएगा। धन लाभ व उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे। पारिवारिक सुख में वृद्धि होगी। किसी शुभ कार्य पर धन खर्च होगा।
उपाय- सूर्य देव को रोज़ जल चढ़ाएं।

जून- मंगल की सप्तमस्थ दृष्टि रहने से कुछ रुके कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। मित्रों की सहायता से किसी कार्य में सिद्धि हासिल होगी।
उपाय- चाक्षुषोपनिषद स्तोत्र का पाठ करें।

जुलाई- व्यवसायिक क्षेत्र में अस्थिरता व उथल-पुथल के हालात का सामना हो सकता है। खर्च अधिक होंगे। संघर्ष के बाद ही गुजारे योग्य आय के साधन बनते रहेंगे।
उपाय- श्रावण माहात्म्य का नित्य पाठ व शिव-मंत्रावली में से शिव-स्तोत्र का पाठ करें।

अगस्त- गुरु की दृष्टि होने से धर्म-कर्म की ओर रूचि होगी। किसी शुभ कार्य पर खर्च होगा। कठिनाई से धन प्राप्ति के साधन बनेंगे।
उपाय- शिवलिंग पर कच्ची लस्सी चढ़ाएं।

सितंबर- कुछ बिगड़े कामों में सुधार व आय के साधनों में वृद्धि होगी। किसी नवीन कार्यक्षेत्र में धन का निवेश करने की योजना भी बनेगी। क्रोध की अधिकता रहेगी।
उपाय- पितृ-स्तोत्र का पाठ करना शुभ रहेगा।

अक्टूबर- घर में शुभ कार्य होंगे। 17 अक्टूबर 2020 से व्यर्थ खर्च बढ़ सकता है। वाहन आदि का क्रय-विक्रय भी होगा।
उपाय- कार्तिक माहात्म्य का नित्य पाठ करें।

नवंबर- सूर्य नीच राशि में होने सो धन लाभ साधारण हो, मानसिक तनाव व क्रोध अधिक रहेगा। परिवार में व्यर्थ का तनाव पैदा हो सकता है। यात्रा से परेशानी हो सकती है।
उपाय- आदित्यह्रदय स्तोत्र काप पाठ करें।

दिसंबर- विशेष परिश्रम व पारिवारिक सहयोग के बावजूद कार्य-सिद्धि में देरी हो सकती है। बहुत सारे विघ्नों के बाद भी कुछ बिगड़े कामों में सुधार आएगा।
उपाय- मंगलवार के व्रत करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *